अपनी भाषा को लिखने में कैसी शर्म? अपने देश के लिए इतना करे! धन्यवाद!

Started by HARIVANSH NARAIN SRIVASTAVA on Sunday, August 7, 2011

Participants:

8/7/2011 at 9:52 AM

ummid h ki mai ap logo ko "manaane" r "yad" karne k fark ko samjha pai hu!!
प्रिय भारतवासियों,
15 अगस्त आने वाला है, हमारा स्वतंत्रता दिवस!
इस दिन तक सभी भारतवासी अपना "FACEBOOK" नाम , हिंदी या अपनी मातृभाषा में बदल ले, जिससे "FACEBOOK" पर इस स्वंत्रता दिवस पर भारत की आजादी का रंग छा जाये!
http://www.google.com/tran​sliterate/ पर जाके अपना नाम हिंदी में करके , https://www.facebook.com/e​ditaccount.php?drop यहाँ हिंदी में डाले!
अगर आप अपने देश के लिए , अपनी राष्ट्रभाषा के लिए कुछ कर सकते है तो अपना योगदान जरूर दे!

(इस स्वतंत्रता दिवस तक अपना नाम हिंदी या अपनी मातृभाषा में बदल दे!)

अपने दोस्तों को इसकी सलाह दे!

दुनिया को दिखा दे की भारत से बड़ी जनशक्ति कोई नहीं! "FACEBOOK" पर हम कम से कम इतना तो कर ही सकते है हम अपने देश के लिए! कृपया करके अपने देश के लिए इतना तो करे!
अपनी भाषा को लिखने में कैसी शर्म? अपने देश के लिए इतना करे! धन्यवाद!

जय हिंद, जय भारत!

Create a free account or login to participate in this discussion